Dushman Na Kare Lyrics in Hindi - Aakhir Kyon Movie 1985

Dushman Na Kare Lyrics in Hindi - Aakhir Kyon Movie

Dushman Na Kare Song from Aakhir Kyon Movie starring Rajesh Khanna, Rakesh Roshan, Smita Patil and Tina Munim, released in 1985, sung by Indian legend Singers Amit Kumar and Lata Mangeshkar. Dushman Na Kare Lyrics (दुश्मन न करे) are penned down by Indeevar while Rajesh Roshan has given music.

Dushman Na Kare Lyrics in Hindi, Amit Kumar, Lata Mangeshkar, Aakhir Kyon 1985

Dushman Na Kare Lyrics in English

Dushman na kare dost ne wo kaam kiya hai
Dushman na kare dost ne wo kaam kiya hai

Umra bhar ka gham hamein inaam diya hai
Dushman na kare dost ne wo kaam kiya hai
Umra bhar ka gham hamein inaam diya hai

Toofan mein humko chhod ke saahil pe aa gaye
Toofan mein humko chhod ke saahil pe aa gaye
Saahil pe aa gaye
Na Khuda ka
Na Khuda ka humne inhein naam diya hai
Umra bhar ka gham hamein inaam diya hai
Dushman na kare

Pehle to hosh chheen liye zulm-o-sitam se
Pehle to hosh chheen liye zulm-o-sitam se
Zulm-o-sitam se
Deewanagi ka
Deewanagi ka phir hamein ilzam diya hai
Umra bhar ka gham hamein inaam diya hai
Dushman na kare

Apne hi giraate hain nasheman pe bijliyan
Apne hi giraate hain nasheman pe bijliyan
Nasheman pe bijliyan
Ghairon ne aake
Ghairon ne aake phir bhi use thaam liya hai

Umra bhar ka gham hamein inaam diya hai
Dushman na kare

Bankar raqeeb baithe hain wo jo habeeb the
Bankar raqeeb baithe hain wo jo habeeb the
Wo jo habeeb the
Yaaron ne khoob
Yaaron ne khoob farz ko anjaam diya hai
Umra bhar ka gham hamein inaam diya hai
Dushman na kare dost ne wo kaam kiya hai
Umra bhar ka gham hamein inaam diya hai

Check this song also:- Kuch Toh Log Kahenge


दुश्मन न करे Dushman Na Kare Lyrics in Hindi

दुश्मन न करे दोस्त ने वो काम किया है
दुश्मन न करे दोस्त ने वो काम किया है

उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है
दुश्मन न करे दोस्त ने वो काम किया है
उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है

तूफ़ाँ में हमको छोड़ के साहिल पे आ गये
तूफ़ाँ में हमको छोड़ के साहिल पे आ गये
साहिल पे आ गये
ना ख़ुदा का
ना ख़ुदा का हमने जिन्हें नाम दिया है
उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है
दुश्मन न करे

पहले तो होश छीन लिये ज़ुल्म-ओ-सितम से
पहले तो होश छीन लिये ज़ुल्म-ओ-सितम से
ज़ुल्म-ओ-सितम से
दीवानगी का
दीवानगी का फिर हमें इल्ज़ाम दिया है
उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है
दुश्मन न करे

अपने ही गिराते हैं नशेमन पे बिजलियाँ
अपने ही गिराते हैं नशेमन पे बिजलियाँ
नशेमन पे बिजलियाँ
ग़ैरों ने आ के
ग़ैरों ने आ के फिर भी उसे थाम लिया है

उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है
दुश्मन न करे

बन के रक़ीब बैठे हैं वो जो हबीब थे
बन के रक़ीब बैठे हैं वो जो हबीब थे
वो जो हबीब थे
यारों ने ख़ूब
यारों ने ख़ूब फ़र्ज़ को अंजाम दिया है
उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है
दुश्मन न करे दोस्त ने वो काम किया है
उम्र भर का ग़म हमें ईनाम दिया है

Check this song also:- Mere Sapno Ki Rani



If you found any mistakes in lyrics then please write down in the comment box.

Post a Comment

0 Comments